Archive

Archive for the ‘Hindi News’ Category

कोर्ट ने कहा, बनावटी थी निशा की दहेज वाली कहानी

नोएडा।। याद है आपको नोएडा की निशा शर्मा? 2003 में एक दिन अचानक मीडिया ने सेक्टर-56 में रहने वाली निशा को सुर्खियों में ला दिया, क्योंकि उसने दहेज मांगे जाने पर भरे मंडप में शादी से इनकार कर दिया था और बरात लौट गई। लेकिन कोर्ट ने बुधवार को नौ साल पहले निशा की ओर से दर्ज कराए गए दहेज के आरोप को बनावटी कहानी ठहरा दिया।

निशा से शादी करने पहुंचे मुनीष दलाल ने इस केस में नौ साल तक कोर्ट के चक्कर काटे। बुधवार को दिल्ली के विकासपुरी स्थित अपने घर में मुनीष ने कहा कि हमें इंसाफ तो मिला, लेकिन जिंदगी बर्बाद होने के बाद। हम इस मामले को ऐसे ही नहीं छोड़ेंगे। झूठे केस में फंसाने पर निशा और उसके पिता डी.डी. शर्मा के खिलाफ हर्जाने का केस करेंगे।

कोर्ट ने बुधवार को निशा शर्मा के दहेज केस को न सिर्फ बनावटी कहानी माना, बल्कि मामले में एकतरफा रिपोर्टिंग करके चारों आरोपियों की मानहानि करने के आरोप में एक बड़े अखबार के रिपोर्टर के खिलाफ मुकदमा शुरू करने का आदेश भी दिया। इन चारों आरोपियों मुनीष, उनकी मां विद्या दलाल, बुआ सावित्री देवी और निशा के कथित प्रेमी नवनीत को बाइज्जत बरी कर दिया गया। कोर्ट ने कहा कि जब निशा शर्मा की मुनीष दलाल के साथ शादी ही नहीं हुई, तो दहेज ऐक्ट कैसे लागू हो सकता है।

सीजेएम ने निशा की कहानी पर कई सवाल खड़े किए। फैसला सुनने के लिए निशा की ओर से वकील समेत कोई भी व्यक्ति कोर्ट में नहीं था। इससे पहेल भी इस केस की सुनवाइयों में गवाही देने निशा शर्मा कभी नहीं पहुंची और न ही उनके पिता डीडी शर्मा शादी की तैयारियों की सीडी और जरूरी सबूत पेश कर सके।

http://navbharattimes.indiatimes.com/articleshow/12093143.cms

Categories: Hindi News

निकाह से मना किया तो प्रेमिका ने की प्रेमी के भाई की हत्या

बिजनौर।। निकाह से मना करने पर प्रेमिका ने सहेली की सहायता से प्रेमी के 6 साल के भाई की गला घोंटकर हत्या की। पुलिस सूत्रों के अनुसार थाना नूरपुर के मौहल्ला हजरतनगर में रहने वाले सुलेमान का 6 साल का बेटा अरमान गुरुवार को घर से गायब हो गया था। काफी तलाश के बाद भी जब वह नहीं मिला तो इसी मकान में किराए पर रह रही रेशमा पर शक जाहिर किया गया।

पुलिस पूछताछ में रेशमा ने खुलासा किया कि अरमान के बड़े भाई उस्मान से उसके प्रेम संबंध थे लेकिन वह निकाह से इनकार कर रहा था। रेशमा अपनी सहेली गुलिस्तां की मदद से अरमान को फुसलाकर गन्ने के खेत में ले गई जहां दुपट्टे से उसकी गला घोंटकर हत्या कर दी।

शुक्रवार शाम पुलिस ने अरमान का शव बरामद कर लिया है।

http://navbharattimes.indiatimes.com/articleshow/9670682.cms

Categories: Crime by Women, Hindi News

तांत्रिक ने की रेप की कोशिश, महिला ने गुप्तांग काटा

पन्ना।। मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में एक तांत्रिक की हरकत से परेशान महिला ने चाकू से उसका गुप्तांग काट दिया। तांत्रिक को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पुलिस के मुताबिक गुन्नौर थाने के देवगांव में रहने वाली चंदा (काल्पनिक नाम) की महिला की बेटी गूंगी-बहरी है। महिला ने बेटी के इलाज के लिए एक तांत्रिक भरत राम का सहारा लिया। भरत राम ने चंदा की बेटी को तंत्र से ठीक करने का भरोसा दिलाया। भरत ने इस दौरान महिला से अनैतिक सम्बंध स्थापित करने का दबाव डाला और कहा कि ऐसा होने पर ही बच्ची ठीक होगी।

चंदा का कहना है कि भरत ने उससे शारीरिक संबंध स्थापित करने की कोशिश की, जिसका उसने विरोध किया। जब उसे कुछ नहीं सूझा तो उसने सब्जी काटने वाले चाकू से भरत का गुप्तांग काट दिया। वहीं भरत का कहना है कि उसने महिला से कोई जोर-जबरदस्ती नहीं की। भरत को गंभीर हालत में हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।

सीनियर पुलिस अफसर निश्चल झारिया ने बताया कि महिला द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत पर भरत के खिलाफ छेड़छाड़ का केस दर्ज किया गया है और महिला के पति और भांजे पर तांत्रिक का गुप्तांग काटने का केस दर्ज किया गया है।

Categories: Hindi News

Sexual Harassment Bill would be misused heavily

Categories: Hindi News

लव मैरिज करने वाले युवक के परिवार पर हमला

http://navbharattimes.indiatimes.com/delhiarticleshow/6181625.cms

पड़ोस की लड़की से लव मैरिज करना एक युवक और उसके परिवार पर भारी पड़ गया। लड़की के
परिवार वालों ने शुक्रवार देर रात घर में घुसकर पूरे परिवार पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। घरवालों को डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। मामला कोतवाली सेक्टर-20 पुलिस का है। पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

सेक्टर-19 में राजबल अपनी पत्नी और भाई कुलदीप के साथ रहते हंै। कुलदीप ने 16 जून को पड़ोस में रहने वाले कमरपाल की बेटी संगीता से लव मैरिज कर ली थी। घरवालों की मर्जी के बगैर दोनों के शादी कर लेने से कमरपाल और उसका परिवार खफा था। दोनों परिवारों में तभी से रंजिश चल रही थी। शुक्रवार की रात कमर पाल ने अपने साथियों के साथ मिलकर राजबल के परिवार पर हमला कर दिया। राजबल उनकी पत्नी और कुलदीप को डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। सेक्टर-20 थाने मेें कमरपाल और उसके साथियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस ने जांच शुरू कर दी है लेकिन किसी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है।

Categories: Hindi News

मर्डर केस में 19 साल से फरार पत्नी गिरफ्तार

http://navbharattimes.indiatimes.com/delhiarticleshow/6177675.cms

19 साल से फरार महिला अपने पहले पति के मर्डर के इल्जाम में गिरफ्तार कर ली
गई है। इस केस में उसके साथ गिरफ्तार हुए मुलजिमों को 18 साल पहले उम्रकैद हो चुकी थी। 60 साल की यह महिला नाम बदलकर दिल्ली में रहती थी।

कत्ल की यह वारदात 1986 में हुई थी। हुस्नआरा नाम की यह महिला तब कोतवाली इलाके के तहत यमुना पुश्ते पर रहती थी और अपने शौहर मुहम्मद रफीक से नाराज रहती थी। यमुना पुश्ते के प्रधान राम सिंह के साथ उसकी जान पहचान हो गई। रफीक को उनके रिश्ते पर ऐतराज था। 1986 में हुस्नआरा और राम सिंह ने रफीक से पीछा छुड़ाने का फैसला किया। राम सिंह ने अपने साथी लल्लू राम उर्फ पंडित जी को तैयार किया। तीनों ने मिलकर रफीक की हत्या कर उसकी लाश झुग्गी में डाल दी और आग लगी दी। उस मर्डर केस में कोतवाली पुलिस ने हुस्नआरा, राम सिंह और लल्लू राम को गिरफ्तार कर लिया था। राम सिंह और लल्लू राम को जमानत नहीं मिली और उन्हें अडिशनल सेशन जज एस. सी. मित्तल ने 11 अगस्त 1992 को उम्रकैद की सजा सुनाई।

हुस्नआरा को 1989 में जमानत मिल गई थी। इसके बाद उसने कोर्ट में जाना बंद कर दिया। उसे 1991 में कोर्ट ने भगोड़ा घोषित कर दिया था। 19 साल से कानून उसका इंतजार कर रहा था। लाहौरी गेट के एसएचओ सुरेश कौशिक की टीम को खबर मिली कि हुस्नआरा अब जीनत के नाम से सीलमपुर में रहती है। हवलदार दिनेश कुमार की टिप-ऑफ पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। उसे तीस हजारी कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिसा गया। अब वह किसी महेंद्र नामक व्यक्ति से शादी कर रहती थी। पुलिस को जानकारी मिली कि फरार होने के बाद उसने किसी दूसरे रफीक से शादी कर ली थी। उसकी मौत भी जलने से हुई थी। यह पुलिस को जानकारी नहीं मिली कि दूसरा रफीक किस हालात में जला था।

Categories: Hindi News

पुलिस ने झूठे रेप केस में फंसाया बुजुर्ग को

http://navbharattimes.indiatimes.com/delhiarticleshow/6177902.cms

अदालत ने पूर्वी जिला पुलिस की जांच पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि उसने 65 
साल के बुजुर्ग व्यक्ति को रेप के झूठे केस में फंसा दिया। अडिशनल सेशन जज अतुल कुमार गर्ग की अदालत ने आरोपी को बरी करते हुए डीसीपी (ईस्ट) को दोषी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। अदालत ने तीन महीने के भीतर डीसीपी से स्टेटस रिपोर्ट मांगी है।

पेश मामले के मुताबिक, मयूर विहार इलाके में रहने वाली इंद्रावती (बदला हुआ नाम) की बेटी किसी युवक के साथ घर से चली गई थी। कुछ दिन बाद लड़की वापस लौट आई थी। इस संबंध में इंद्रावती का लड़के के परिवारवालों से कोर्ट में केस चल रहा था। इंद्रावती का आरोप है कि धर्म सिंह चौहान (बदला हुआ नाम) इलाके का प्रधान है। उसने महिला को भरोसा दिलाया कि वह लड़के वालों से उसका समझौता करा देंगे। इस संबंध मंे वह कई बार महिला से मिला। आरोप है कि 13 जून 2008 की रात प्रधान महिला से मिला। उसने इंद्रावती से कहा कि वह लड़के वालों को भी बुला लेगा। इस दौरान प्रधान उसे एक मकान के फर्स्ट फ्लोर पर लेकर गया। वहां पर दो लोग पहले से मौजूद थे। प्रधान ने उन दोनों की मदद से महिला के साथ रेप किया। महिला किसी तरह छूटकर अपने घर पहुंची। घर पहुंचकर उसने अपनी बहन को आपबीती बताई। इस बीच बहन का लड़का भी वहां पहुंच गया। उसी ने पुलिस को फोन किया। कुछ ही देर में पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने महिला के बयान पर 65 वर्षीय प्रधान को गिरफ्तार कर लिया।

अभियोजन पक्ष ने प्रधान पर आरोप साबित करने के लिए 14 गवाहों को अदालत में पेश किया। इनमंे से कई गवाहों ने अभियोजन पक्ष की स्टोरी को सपोर्ट नहीं किया। अदालत ने पुलिस की जांच पर सवाल उठाते हुए कहा कि केस के जांच अधिकारी सबइंस्पेक्टर संजय भट्ट ने न तो पीडि़ता की बहन का बयान रेकॉर्ड किया और न ही उसके बेटे का, जिसने पुलिस कॉल की थी। इसके साथ ही अदालत ने पीडि़ता से भी कई सवाल पूछे। पीडि़ता के पास इन सवालों का कोई जवाब नहीं था कि उसकी बहन का बेटा उसे कैसे मिला। उस वक्त वह कहां जा रहा था। इसके साथ ही पुलिस उस जगह का कोई सबूत पेश नहीं कर पाई जहां पर पीडि़ता के साथ रेप हुआ था। अदालत ने यह सवाल भी पूछा कि जिस मकान में महिला के साथ रेप हुआ, वह काफी भीड़भाड़ वाला इलाका है। बावजूद इसके महिला ने कोई शोर नहीं मचाया। अदालत ने कहा कि जांच अधिकारी ने आरोपी के अंडर गारमेंट जब्त करना भी जरूरी नहीं समझा, जबकि रेप जैसे संगीन केस में ऐसा करना जरूरी होता है। इन सब तथ्यों को मद्देनजर रखते हुए अदालत ने कहा कि पुलिस ने यह झूठा केस बनाया है इसलिए आरोपी को बरी किया जाता है।

Categories: Hindi News